logo

ग्रहों की शांति के लिए दान करने से जुड़े नियम

ग्रहों की शांति के लिए दान करने से जुड़े नियम

Monday 27 May 2024
दान करने के लिए प्रत्येक ग्रह से जुड़ी चीजों का ज्ञान होना बहुत जरूरी है. यदि ग्रह की शांति के लिए दान करना शुभ है तो कई बार दान की स्थिति नकारात्मक फलों को भी देने वाली हो जाती है. इसके लिए जरूरी है की समझा जाए कि दान कब करना है और किस ग्रह के लिए दान करना जरूरी होगा. ग्रह विशेष से संबंधित वस्तुओं का दान करने से कुंडली में अशुभ ग्रहों के कारण होने वाली जीवन की परेशानियों और कष्टों से राहत मिल सकती है. ग्रह का प्रभाव व्यक्ति के जन्म के साथ ही उसके जीवन पर प्रभाव डालना शुरू कर देता है. ऎसे में कुछ ग्रह आपकी कुंडली में अच्छे हो सकते हैं तो कुछ खराब हो सकते हैं.
इन ग्रह स्थिति के द्वारा ही विभिन्न प्रकार के योग बनते हैं. कुंडली में प्रत्येक ग्रह का अपना-अपना महत्व होता है. ग्रह जीवन को अलग-अलग तरीके से प्रभावित करते हैं. कमजोर ग्रह अच्छे परिणाम देने में सक्षम नहीं होता है, जबकि मजबूत ग्रह व्यक्ति के जीवन को सकारात्मक तरीके से प्रभावित करता है. पर कमजोर और मजबूत ग्रह की स्थिति को भी देख लेने की जरूरत होती है. पता चले की मजबूत ग्रह कुंडली में मारक बन रहा है तो ऎसी स्थिति में दान कैसे किया जाए इस बात को जान लेना भी आवश्यक होता है.
उचित रुप से ग्रह शांति के लिए किया गया दान सफलता और उपलब्धियां प्रदान करने में सहायक बनता है. इसलिए जरूरी है कि किसी भी तरह के उपाय एवं दान कार्य को करने से पूर्व थोड़ा सजग होकर इसे समझ लिया जाए. अपनी कुंडली को जान कर आप उचित रुप से अपने ग्रहों की शांति के लिए उपाय करके शुभ फलों को पाने में सफल होते हैं, अन्यथा बिना कुंडली में ग्रहों की जानकारी के दान का फल आपको उचित परिणाम नहीं दे पाएगा.

ग्रहों की स्थिति का विश्लेषण और दान की महत्ता

अशुभ फलों को कम करने के लिए अशुभ ग्रहों की दृष्टि होने या अशुभ भाव में बैठने से संबंधित वस्तुओं का दान करना लाभकारी माना जाता है. पूर्ण फल प्राप्त करने के लिए दान करते समय उपाय पर पूरा विश्वास रखना चाहिए.

सूर्य ग्रह के लिए दान

सूर्य की शुभता प्राप्त करने के लिए सोना, गेहूं, गुड़, केसर, पीतल, लाल वस्त्र या फूल दान में देना चाहिए इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में सूर्य की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभफल प्रदान करता है. कुंडली में सूर्य की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

चंद्र ग्रह के लिए दान

चंद्रमा के लिए दान करने योग्य वस्तुएं चांदी, सफेद वस्तुएं, चावल, दूध, दही, चीनी, सफेद चंदन, सफेद वस्त्र आदि हैं. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में चंद्र की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभ फल प्रदान करता है. कुंडली में चंद्र की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

मंगल ग्रह के लिए दान

मंगल के लिए तांबा, घी, गेहूं, गुड़, लाल वस्त्र, मसूर दाल, लाल फूल, लाल चंदन और लाल वस्त्र का दान करना चाहिए. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में मंगल की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभफल प्रदान करता है. कुंडली में मंगल की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

बुध ग्रह के लिए दान

बुध ग्रह की शांति के लिए हाथी दांत, चीनी, हरे वस्त्र, हरे फूल, मूंग की दाल, कपूर और तारपीन का तेल, हरे फल, केसर, कपूर, घी और धार्मिक पाठ्यपुस्तकें आदि का दान करना चाहिए. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में बुध की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभफल प्रदान करता है. कुंडली में बुध की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

बृहस्पति ग्रह के लिए दान

बृहस्पति की शुभता को बढ़ाने के लिए इसके अशुभ प्रभावों को शांत करने के लिए बृहस्पति से संबंधित चीजें जैसे सोना, पीतल, हल्दी, शहद, चना दाल, पीले कपड़े, केसर, पीले फूल, धार्मिक पाठ्यपुस्तकें आदि का दान करना चाहिए. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में बृहस्पति की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभ फल प्रदान करता है. कुंडली में गुरु की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

शुक्र ग्रह के लिए दान

शुक्र के लिए हीरा, चांदी, चावल, घी, कपूर, दही, चीनी, सफेद वस्त्र या फूल आदि दान में देना चाहिए. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में सूर्य की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभफल प्रदान करता है. कुंडली में सूर्य की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

शनि ग्रह के लिए दान

शनि के लिए लोहा, सरसों का तेल, नीलम, कंबल, चमड़ा आदि दान में देना चाहिए. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में शनि की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभफल प्रदान करता है. कुंडली में शनि की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

राहु ग्रह के लिए दान

राहु के शुभ फल के लिए उससे संबंधित वस्तुएं जैसे तिल, तिल का तेल, कंबल, सप्तरत्न आदि का दान करना चाहिए. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में राहु की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभफल प्रदान करता है. कुंडली में राहु की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

केतु ग्रह के लिए दान

केतु के अशुभ प्रभाव को शांत करने के लिए सप्त धान्य, काली मिर्च, काला कपड़ा, तिल, लोहा का दान करना चाहिए. इस दान की स्थिति कुंडली में मौजूद स्थिति के अनुसार करनी चाहिए. कुंडली में केतु की शुभता को पाने के लिए इन चीजों का दान शुभफल प्रदान करता है. कुंडली में केतु की अशुभ स्थिति से बचाव के लिए दान करना सहायक होता है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *